Ram Mandir Opening: चंपत राय ने बताया कि राम मंदिर का निर्माण 1000 साल तक वैसा ही रहेगा।

Ram Mandir Pran Pratishtha: यूपी के अयोध्या में 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा का समारोह होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसमें मुख्य अतिथि होंगे।

Ram Mandir Opening: चंपत राय ने बताया कि राम मंदिर का निर्माण 1000 साल तक वैसा ही रहेगा।

Ram Mandir:  Ayodhya में भगवान श्रीराम के सुंदर मंदिर के उद्घाटन समारोह को लेकर जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं। रामभक्तों में उत्साह बढ़ता जा रहा है जैसे-जैसे 22 जनवरी, प्राण प्रतिष्ठा की तारीख नजदीक आ रही है। मंदिर निर्माण और उद्घाटन समारोह को लेकर हर दिन श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट से जानकारी दी जाती है।

शुक्रवार को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि मंदिर एक हजार साल की आयु का है, इसलिए इसमें मरम्मत की जरूरत नहीं होगी। इसके निर्माण में लोहे, सीमेंट या कंक्रीट का बिल्कुल भी उपयोग नहीं किया गया है। आजकल लोकप्रिय पायल फाउंडेशन का इस्तेमाल नहीं किया गया है। 

चंपत राय ने दी मंदिर निर्माण की जानकारी

चंपत राय ने कहा कि यहां नींव आर्टिफिशियल रॉक है। भविष्य में चट्टान बनने वाली कंक्रीट डाली गई है। इस कंक्रीट में 3% से भी कम सीमेंट का उपयोग किया गया है। ट्रस्ट ने गुरुवार को बताया कि मंदिर परंपरागत नागर शैली में बनाया जा रहा है। जिसकी लंबाई 380 फीट (पूर्व से पश्चिम) होगी, चौड़ाई 250 फीट होगी और ऊंचाई 161 फीट होगी।

तीन मंजिला मंदिर में होंगे 44 द्वार 

सभा ने कहा कि मंदिर तीन मंजिला होगा। मंदिर में 392 खंभे और 44 द्वार होंगे, हर मंजिल 20 फीट की ऊंचाई होगी। प्रभु श्रीराम का बालरूप (श्रीरामलला सरकार का विग्रह) मुख्य गर्भगृह में होगा, और प्रथम तल पर श्रीराम दरबार होगा। मंदिर में दिव्यांगजनों और वृद्धों के लिए रैम्प और लिफ्ट होंगे। मंदिर के आसपास प्रस्तावित अन्य मंदिर महर्षि वाल्मीकि, महर्षि वशिष्ठ, महर्षि विश्वामित्र, महर्षि अगस्त्य, निषादराज, माता शबरी और ऋषिपत्नी देवी अहिल्या को समर्पित होंगे।