कोरोना वायरस का भयानक संस्करण JN.1 ने दिल्ली में प्रवेश किया, देश भर में 110 मामले

दिल्ली में एक नवीनतम जेएन.1 कोरोना वायरस का केस सामने आया है। Delhi स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने इसकी पुष्टि की है।

कोरोना वायरस का भयानक संस्करण JN.1 ने दिल्ली में प्रवेश किया, देश भर में 110 मामले

Coronavirus Cases in Delhi: देश में COVID-19 के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इस बीच, COVID-19 ने दिल्ली को भी घेर लिया है। बुधवार (27 दिसंबर) को राजधानी में Jn.1 का पहला मामला सामने आया। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने इसकी सूचना दी है।

समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि दिल्ली में कोविड 19 के सब-वैरिएंट जेएन.1 का पहला मामला सामने आया है। जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए तीन नमूनों में से एक जेएन.1 है, जबकि दो में ओमीक्रॉन वैरिएंट पाया गया है। 

8 राज्यों में पहले ही दस्तक दे चुका है JN.1 

इससे देश में एन.1 वैरिएंट के 110 मामले हो गए हैं। दिल्ली से पहले 8 राज्यों में JN.1 के मामले हुए हैं। गुजरात, कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र, केरल, राजस्थान, तमिलनाडु और तेलंगाना इन राज्यों में शामिल हैं।

JN.1 वैरिएंट के सबसे अधिक 36 मामले गुजरात में दर्ज किए गए हैं, जबकि कर्नाटक में 34 मामले दर्ज किए गए हैं। नए वैरिएंट से प्रभावित अधिकांश मरिजों को घर में सुरक्षित रखा गया है।

कोरोना के 529 नए मामले दर्ज

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार (27 दिसंबर) को देश में कोरोना के 529 नए मामले दर्ज किए हैं। इससे कुल एक्टिव मामले 4093 हो गए हैं। इसके अलावा, वायरस ने तीन लोगों को मार डाला है। मरने वालों में से दो कर्नाटक के हैं, जबकि एक गुजरात का है।

'92 प्रतिशत लोगों का घर पर हो रहा इलाज'

नीति आयोग (स्वास्थ्य) के सदस्य डॉ वी के पॉल ने कहा कि नए वैरिएंट को बारीकी से देखा जा रहा है, कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच। इस दौरान, उन्होंने राज्यों को अपनी सर्विलांस प्रणाली को मजबूत करने और टेस्टिंग को बढ़ाने पर जोर दिया। उनका कहना था कि संक्रमितों में से 92 प्रतिशत का इलाज घर पर किया जा रहा है।