Odisha Train Accident : How did the Odisha train crash happen?- कोरोमंडल एक्सप्रेस सिग्नल वापस लेने की वजह से मालगाड़ी से भिड़ी थी ।

Odisha Train Accident : How did the Odisha train crash happen?- कोरोमंडल एक्सप्रेस सिग्नल वापस लेने की वजह से मालगाड़ी से भिड़ी थी ।
Odisha Train Accident

Odisha Train Accident : How did the Odisha train crash happen?

कोरोमंडल एक्सप्रेस सिग्नल वापस लेने की वजह से मालगाड़ी से भिड़ी थी । प्रारंभिक जांच में यह सामने आई कमी, अभी तक 288 मृतकों की संख्या पहुंच चुकी है और लगभग 1100 से ज्यादा यात्री घायल हो चुके हैं । मैं लाइन को छोड़कर लूप लाइन में गई थी कोरोमंडल एक्सप्रेस और मालगाड़ी के ऊपर चढ़ा इंजन किसके साथ बगल के ट्रैक पर गिरे थे डिब्बे उसी वक्त डाउनलाइन से गुजर रही बेंगलुरु हावड़ा सुपरफास्ट ट्रेन से टकराई कोरोमंडल एक्सप्रेस के पलटे डिब्बे ‌।

पीएम मोदी नरेंद्र सिंह और रेल मंत्री ओडिशा व बंगाल के मुख्यमंत्रियों ने इस मौके पर घटनास्थल का जायजा लिया । राहत एवं बचाव अभियान चल रहा है रेल की बोगियों में फंसे यात्रियों को अस्पताल पहुंचाया जा रहा है ।

ओडिशा राज्य के बालेश्वर में शुक्रवार के दिन हुए रेल हादसे में मरने वालों की संख्या 288 व घायलों की संख्या लगभग 1100 से ज्यादा पहुंच गई है ।इनमें 100 से ज्यादा व्यक्तियों की हालत गंभीर बताई जा रही है । यह देश का तीसरा सबसे बड़ा हादसा बताया जा रहा है इसकी प्रारंभिक जांच में यह सामने आया है कि पहले कोरोमंडल एक्सप्रेस को मेल लाइन का सिग्नल दिया गया था लेकिन उसके बाद में इसे वापस ले लिया गया था ।

इससे ट्रेन लूप लाइन में चली गई थी और वहां पहले से खड़ी एक मालगाड़ी से ट्रेन टकरा गई थी मामले में उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं । मौके की घटना का जायजा लेने तथा घायलों का हाल जानने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सहित रेलवे के सभी वरिष्ठ अधिकारी दुर्घटना स्थल पर पहुंचे और मौके का मुआयना किया ।‌

रेलवे ने इस घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं इस बीच राहत और बचाव का कार्य पूरा हो गया है हालांकि रूट बहाल होने में अभी कुछ समय और लग सकता है । बताया जा रहा है कि दुर्घटना के समय दोनों ट्रेनों में कुल लगभग 2000 से अधिक यात्री सवार थे ।‌ इस ट्रेन हादसे के बाद रेलवे की कवच सुरक्षा प्रणाली को लेकर चर्चा‌ का विषय बना हुआ है और कहा जा रहा है कि कवच काम कर लेता तो यह घटना नहीं होती‌। रेलवे सूत्रों का यह कहना है कि यह हादसे जिस तरीके से हुआ है उसमें कवच प्रणाली भी काम नहीं करती ।‌

इस हादसे का मुख्य कारण ट्रेन का पटरी होना है सूत्रों ने यह खुलासा किया है कि हादसा ने तो सिग्नल फेल होने के चलते हुआ है और ना ही मालगाड़ी के टकराने के चलते बालेश्वर स्टेशन के पास करीब 300 मीटर दूर लूप लाइन में एक मालगाड़ी खड़ी थी तभी हावड़ा से आ रही कोरोमंडल एक्सप्रेस पटरी से उतर गई इसका इंजन दूसरे ट्रैक पर खड़ी मालगाड़ी पर चढ़ गया और झटके से पीछे की दो बोगियां खाली पड़े तीसरे ट्रैक पर चढ़ गई इसी दौरान दूसरी तरफ से आ रही ट्रेन उन दोनों को कुचल दिया ।

FAQ:- 

odisha train accident in hindi

train accident today
ओडिशा ट्रेन न्यूज़
ओडिशा रेल दुर्घटना
बालासोर ट्रेन दुर्घटना अपडेट
train accident today in hindi
सालासर ट्रेन हादसा
आज का रेल दुर्घटना 2023