High Court has issued orders to the Director General of Police of Haryana : पुलिस लेगी प्रेमी जोड़ों की सुरक्षा पर फैसला

High Court has issued orders to the Director General of Police of Haryana : पुलिस लेगी प्रेमी जोड़ों की सुरक्षा पर फैसला
पुलिस लेगी प्रेमी जोड़ों की सुरक्षा पर फैसला हाईकोर्ट ने हरियाणा पंजाब और चंडीगढ़ के पुलिस महानिदेशकों को आदेश

Police will decide on the safety of loving couples, the High Court has issued orders to the Director General of Police of Haryana, Punjab and Chandigarh.

पुलिस लेगी प्रेमी जोड़ों की सुरक्षा पर फैसला हाईकोर्ट ने हरियाणा पंजाब और चंडीगढ़ के पुलिस महानिदेशकों को आदेश किया जारी पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट सोमवार से लगभग 1 महीने तक बंद रहेगी । इसलिए हाईकोर्ट ने पंजाब हरियाणा और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के पुलिस अधिकारियों से प्रेमी जोड़े के मामले से संबंधित जांच करने के लिए कहा और उनकी सुरक्षा के लिए अधिकारियों से संपर्क करते रहें ।

हाई कोर्ट ने दोनों राज्यों चंडीगढ़ के पुलिस प्रमुख हुए आदेश दिए हैं कि वह आवश्यकता पड़ने पर प्रेमी जोड़ों को सुरक्षा भी प्रदान करेंगे । कोर्ट ने यह भी कहा है कि हाईकोर्ट की गर्मी की छुट्टियों के कारण लंबे समय तक बंद रहेगा किसी भी पक्ष के अधिकारो और कर्तव्यों के प्रतिकूल प्रभाव डाले बिना एक अंतिम उपाय के रूप में यह कोर्ट राज्यों से संबंधित पुलिस अधिकारियों को निर्देश जारी करना उचित समझा है । हाई कोर्ट के जस्टिस संजय वशिष्ठ ने रनवे कपल्स की तरफ से दायर संरक्षण याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए ।

यह आदेश दिए हैं कि याचिकाकर्ताओं ने अपने रिश्तेदारों परिवार के सदस्यों के हाथों अपनी जीवन और स्वतंत्रता के लिए खतरे की आशंका जताते हुए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था । लिव इन रिलेशनशिप में रहने वाले अथवा बिना तलाक के दोबारा शादी करने वाले ऐसे व्यक्तियों द्वारा सुरक्षा की मांग को लेकर हाईकोर्ट में संख्या काफी याचिका दायर हो चुकी है । इस बारे में उन्होंने यह भी कहा है कि इस मुद्दे पर कोई ठोस कानून न होने के कारण काफी केस दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं ।

गर्मियों की छुट्टी के चलते के दौरान मामले में सुनवाई न होने के कारण कोर्ट ने सरकार के याची पक्ष को कहा है कि वह मामले में स्थिति रिपोर्ट रजिस्ट्री में दायर कर सकते हैं । इन आदेशों के साथ रनवे कपल जिन्होंने अपने परिवारों और रिश्तेदारों की मर्जी के खिलाफ शादी की है और अपने जीवन और स्वतंत्रता के लिए खतरे की आशंका जता रहे हैं उन्हें अपने क्षेत्र के एसएसपी या स्थानीय पुलिस से संपर्क करके अपने जीवन की सुरक्षा की मांग करनी होगी ।