Haryana Farmers Protest : Farmers Demanding Sunflower MSP Lathi : सूरजमुखी पर MSP मांगने पर किसानों पर हुए लाठीचार्ज

Haryana Farmers Protest : Farmers Demanding Sunflower MSP Lathi : सूरजमुखी पर MSP मांगने पर किसानों पर हुए लाठीचार्ज
सूरजमुखी पर MSP मांगने पर किसानों पर हुए लाठीचार्ज

Haryana Farmers Protest : Farmers Demanding Sunflower MSP Lathi : सूरजमुखी पर MSP मांगने पर किसानों पर हुए लाठीचार्ज

सूरजमुखी पर MSP मांगने पर किसानों पर हुए लाठीचार्ज के बाद संग्राम हुआ शुरू लाठीचार्ज के विरोध में 8 जिलों में किसानों ने सड़कों पर जाम लगा दिया कैथल सिरसा में टोल फ्री करवा दिए । सूरजमुखी पर एमएसजी मांग रहे किसानों पर कुरुक्षेत्र के शाहाबाद में हुए लाठीचार्ज के विरोध में उन्होंने प्रदेश भर में प्रदर्शन किया और वह सड़कों पर उतरे करनाल कैथल यमुनानगर कुरुक्षेत्र सोनीपत सिरसा फतेहाबाद में सड़कों पर जाम लगाया ।

कैथल जिले में एक और सिरसा जिले में दो जगह पर टोल फ्री करवाएं । करनाल में पुलिस ने बस ताड़ा टोल प्लाजा से किसानों को खदेड़ा इसी तरह रोहतक में किसानों को टोल फ्री नहीं करवाने दिया पुलिस की किसानों के साथ धक्का-मुक्की भी हुई थी उधर शाहाबाद में धरने पर बैठे किसानों के बीच में पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के नेता , राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि मारकंडा नगरी कुरुक्षेत्र शाहाबाद से शुरू हुई एमएसपी की यह लड़ाई अब देश का आंदोलन बनेगी ।

यह भी पढ़ें :- मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विधायकों को दिया गुरु मंत्र और कहा कि आप भी करो जनसंवाद । 

Haryana Farmers Protest

राष्ट्रीय अध्यक्ष गुरनाम सिंह की गिरफ्तारी के बाद अब संयुक्त किसान मोर्चा कमान संभालेगा । राकेश टिकैत ने यह भी कहा है कि MSP पर यह देश का पहला लाठीचार्ज हुआ है अब दिल्ली में संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक बुलाई गई है जिसमें इस आंदोलन को लड़ने की अगली रणनीति तय की जाएगी । इसके साथ उन्होंने यह भी कहा है कि अब यह आंदोलन लंबा चलेगा इसलिए धरनारत किसान संयम बनाकर रखें देश भर में जत्थेबंदिया पहुंचेंगे और आंदोलन को मजबूत किया जाएगा । राकेश टिकैत ने यह कहा है कि देश के सभी किसानों को एकत्रित, उन्हें सरकार अलग-अलग नहीं समझे ।

संयुक्त किसान मोर्चा किसी भी संगठन को अपना बैनर लगाने के लिए मना नहीं करता है उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने गलत जगह पर यह पंगा ले लिया है हरियाणा के लोग तो शुरु से ही क्रांतिकारी रहे हैं अगर हरियाणा में खाप पंचायतें किसान और गुरुद्वारा साहिब में होते तो दिल्ली में 13 महीने चला किसान आंदोलन कभी सफल नहीं हो सकता था ।

यह भी पढ़ें :- Bihar Nitish Kumar : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अब बनाया जा सकता है विपक्ष का संयोजक ।